आसान नहीं होता |

भाग जाने से जीत नहीं जाओगे..
भाग जाने से यार जीत नहीं जाओगे.. जो मौका आगे मिलना था.. बस वो गवा दोगे।
हां मुश्किल है.. बोहोत मुश्किल है जीना..
मुश्किल है हस्ते रहना, मुश्किल है कामयाब होना।
मुश्किल है सबको साथ लेकर चलना..
मुश्किल है अकेले जीना।
पर खुदको खो देना तो उससे भी ज्यादा मुश्किल होगा.. नहीं?
जो इंसान खुदके लिए लड़ता… जो दूसरों के खुशियों में खुदको देखता…
मेहनत से कामयाब होने का सपना सजोता..
दूसरों को मदत करने से नहीं इतराता ..
वो खुदही खो जायेगा तो मुश्किल होजाएगी न यार?

जान देके वो बच तो जायेगा..
पर.. एक मुश्किल से भागने के लिए अपने जिंदगी से मुंह मोड़ लेना?
यह क्या समाधान है? किस वीरगाथा में लिखा है यह?

हां आसान नहीं है.. आसान नहीं है जिंदगी की जंग!
लड़ना पड़ता है उससे..
लड़ना होता है खुदसे.. हर पल.. हर रोज़..
लड़ना होता है समाज से।
हारना तो कोई ऑप्शन भी नहीं होना चाहिए..
ज़िंदगी से हारना कोई ऑप्शन होना ही नहीं चाहिए..
क्युकी खुद भागने के लिए.. सांसे त्याग देना? यह कैसा हल है?

जबसे ले रहे हो सांस तुम..
ले रही है सांस कुछ आशाएं भी!
कुछ लोगो की तो ज़िंदगी बदल सा रख दिए हो तुम आके..
उनसे वो ज़िंदगी छीनने वाले होते कौन हो तुम?!

जीना आसान नहीं होता..
पर जीने जैसा होता है!
जीना आसान नहीं होता..
पर जीने जैसा होता है।
नहीं जीने का ख्याल आए..
तो एकबार सह के तो देखो..
शायद जब वापस उजाला आए..
जीने का कोई नया जरिया तुम्हे गले से लगा जाए?

🍁

10th of September! World Suicide prevention day! Wasn’t planning to write something on it until and unless Fat Guy Workout came up with the brilliant idea of penning a poem about it!

Not comfortable in Hindi? Want to read the english version? It’s never easy here it is in Devang Upadhyay’s page “Fat guy workout”

🍁

Social media: __girlwithwings_ (AhiriCreates)
Social Media: fat_guy_workout (devang upadhyay)

27 Comments

  1. vermavkv says:

    बहुत सुंदर |

    Like

    1. ahiricreates says:

      Shukriya sir 😇
      So glad you liked it!

      Liked by 1 person

      1. vermavkv says:

        Yes, You are good at expressing your feelings. keep writing.

        Liked by 1 person

      2. ahiricreates says:

        This means a lot to me genuinely 😇 so glad you feel like that!
        Thanks a ton sir!

        Like

  2. ahiricreates says:

    https://wp.me/pdgL5D-FO checkout the link to read the english version of the poem at devang’s page

    Liked by 2 people

  3. A very beautifully written poem!!
    It’s like a song.
    You are so good with words, whether it’s Hindi or English.
    Keep sharing

    Liked by 1 person

    1. ahiricreates says:

      Thankyou so much for coming up with the idea of writing something about the topic and for guiding me in it whenever I needed 😇

      Liked by 1 person

      1. Nah!! It’s all you and your hard work. You are amazing and there’s no denying to that.
        Thanks for doing this.

        Liked by 1 person

  4. Abir Chowdhury says:

    Crumbling to apace and ruthless life was never a good option and would never be. The pricelessness of one breath is yet immeasurable to not embrace life with an open heart 😌💙

    Liked by 1 person

    1. ahiricreates says:

      Very very well said 😇 abir!! 💙
      Thank youu!!

      Like

  5. Isha Chawla says:

    💯💯👏👏❤️❤️🦋

    Liked by 1 person

    1. ahiricreates says:

      ❤️🙏thankYou!!

      Liked by 1 person

      1. Isha Chawla says:

        It’s so inspiring bro
        Keep Writing 💯

        Liked by 1 person

      2. ahiricreates says:

        Damn!! ThankYou so much 🥺❤️

        Liked by 1 person

  6. Aayushi says:

    I, honestly, don’t have words for this! Just so heartfelt, Ahiri!

    Liked by 1 person

    1. ahiricreates says:

      Ahh..this means a lott to me! I’m so glad you felt it! ThankYou so muchh A! This means a lottt! ❤️

      Liked by 1 person

  7. Congratulations on 200+ followers

    Liked by 1 person

    1. ahiricreates says:

      Yayy thankYouu so much devang!! And thanks to you especially for being soo warm and supportive to me throughout the WordPress journey 😇

      Like

  8. हिंदी अनुवाद काफ़ी अच्छा है, अहीरी. क्योंकि इसमें तुम्हारी अपनी आवाज शामिल है.

    सुसाइड या आत्महत्या का विचार दैनिक जीवन की किसी घटना से जुड़ा होता है. यह विचार एक गहरी मनःस्थिति की ओर व्यक्ति को धकेलकर ले जाता है. जिससे बाहर आना असंभव-सा होता है.

    जो विचारों के उस जंजाल से डटकर मुकाबला करता है, वह खुद को बचा लेता है.

    आमतौर पर होने वाली मौतों की संख्या सुसाइड से कई ज्यादा है. इन सबका कारण और प्रकार जानना चाहिए. फिर लोग जाते हैं तो आते भी तो हैं.

    समाज की प्रकृति, बनावट और मान्यताओं पर भी कई प्रश्न किए जा सकते है. अच्छा होगा, लोग लड़ने-झगड़ने की बजाय एक-दूसरे को सहारा देना सीखें.

    “जीवन बहुमूल्य है.” इसे खुलकर, आनंद में, और कुछ अच्छा कर गुजरने की इच्छा के साथ जीना है.

    काफ़ी अच्छा लिखा है.👏👏

    Liked by 2 people

    1. ahiricreates says:

      I’m so glad you loved it lokesh!
      बोहोत बोहोत शुक्रिया इस बहुमूल्य योगदान देने के लिए मेरे इस कविता में! यह कॉमेंट भी बोहोत जानकारियां दे जाता है आजके हम सबको!

      बोहोत खुश हु तुम्हे यह पसंद आया😇🙏
      Thanks for being so supportive!

      Liked by 1 person

  9. KK says:

    This is a nice write-up on a sensitive issue. जिंदगी के दो ही फलसफे होते हैं- या तो भाग लो (flee) या भाग लो (participate).

    Liked by 1 person

    1. ahiricreates says:

      Bohot bohot shukriya sir!
      Kya khub bole hai! Bilkul sahi baat hai 😇🤞!

      Liked by 1 person

  10. Bishal Debnath says:

    As a former Depressed suicidal patient it helped lmao.♡

    Liked by 1 person

    1. ahiricreates says:

      Damnnnn😶d’you even know what it means to Mee!! 🥺
      I’m so glad to know it helped you bishal! Seriously THANKYOUU🤧!

      M always there u know that!

      Like

  11. Qonyike says:

    I loved your poem. It’s so beautiful and inspiring. Lovely ❤️

    Liked by 1 person

    1. ahiricreates says:

      ThankYou soo much!! I’m really glad you felt the piece to be inspiring and loved it!

      Like

Leave a Comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s